Gyan Deep Seva Dham

ज्ञानदीप सेवाधाम माताचंद्रकांता सेवान्यास का प्रकल्प है।माताचंद्रकांता सेवान्यास राश्ट्रीय सेवाभारती से सम्बद्ध है। यह पिछले 16 वर्शों से समाज सेवा व समाज के उत्थान में लगा हुआ है। इस विद्यालय से 844 विद्यार्थी पढ़ कर जा चुके हैं। वर्तमान समय में इस विद्यालय से 298 विद्यार्थी षिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। 1100 वर्गगज में बने इस सेवाधाम में पांचवीं तक कक्षा प है।इसका सारा खर्च माताचंद्रकांता सेवान्यास द्वारा किया जाता है। इस प्रकल्प में नर्सरी से पांचवी तक के बच्चों को निषुल्क षिक्षा दी जाती है। किताब, कॉपी, स्टेषनरी एवं यूनिफार्म भी निषुल्क उपलब्ध कराए जाते है। यहां के अध्यापक आस-पास के गरीब परिवारों के घर-घर जाकर उनसे बातचीत करते हैं,जिन परिवारों की हालत देखकर उन्हें लगता है कि वे अपने बच्चों को पढ़ाने की स्थिति में नहीं हैं , उन्हीं बच्चों को इस ज्ञानदीप सेवाधाम प्रकल्प में षिक्षा दी जाती है। जो बच्चे ज्ञानदीप सेवाधाम प्रकल्प से ज्यादा दूर रहते हैं, उनके आने-जाने के लिए वाहन की निषुल्क व्यवस्था की गई है। ऐसे बच्चों की संख्या 55 है।

ज्ञानदीप सेवाधाम प्रकल्प में गर्मियों की छुट्टीयों में गरीब बच्चों के कौषल विकास हेतु विभिन्न प्रकार के प्रषिक्षण वर्ग चलाए जाते हैं।जैसे- खाना बनाना, हस्तकला, योग, लेखन-सुधार, ब्यूटीपार्लर, मेहंदीरचना, आदि सीखने का भी यहाँ गरीब बच्चों को अवसर प्राप्त हुआ।जो बच्चे इस विद्यालय से षिक्षा ग्रहण कर के जा चुके हैं।वह भी समर कैंप में आकर इन सभी अवसरों का लाभ उठाते हैं।

इस प्रकल्प के खुलने से आसपास के लोगों में खुषी का माहौल है। जो गरीब परिवार के बच्चे कूड़ा बीनने, होटलों में काम करने जैसे काम करते थे, अब इस प्रकल्प में षिक्षा ग्रहण कर रहे है ,एवं संस्कार भी सीख रहे हैं।30 अप्रैल 2018 को स्वर्गीय माताचंद्रकांताजी की पुण्य तिथि पर ज्ञानदीप सेवाधाम प्रकल्प पानीपत में सामूहिक यज्ञ का आयोजन किया गया जिसमें श्री कपिल खन्ना जी, उनकी धर्म पत्नी श्रीमती भारती खन्ना जी एवं भाई श्री वरुण खन्ना जी उपस्थित रहे। समय समय पर ज्ञानदीप सेवाधाम प्रकल्प के बच्चों द्वारा हिंदू त्यौहार बड़े ही धूम धाम से मनाए जाते है।इस वर्श ज्ञानदीप सेवाधाम के बच्चों ने चीनी सामान का बहिश्कार करते हुए,सरहद पर तैनात, 24 घंटे हमारी रक्षा करने वाले सैनिक भाईयों के लिए एक हजार राखियाँ तैयार की ।

माताचंद्रकांता स्मृति सेवान्यास द्वारा संचालित सेवा भारती के तत्वाधान में ज्ञानदीप सेवाधाम पानीपत में लोहड़ी का पर्व मनाया गया। लोहड़ी के पर्व से संबंधित अनेक मान्यताएं हैं। यह पर्वसर्दी की ऋतु जाने और बसंत ऋतु के आने का संकेत माना जाता है। ज्ञानदीपसेवा धाम के बच्चों ने देषभक्ति के गीत गाकर लोहड़ी का पर्व मनाया। इस लोहड़ी पर्व के साथ-साथ सभी हिन्दू पर्व भी मनाएं जाते हैं , और इसके साथ बच्चों को त्यौहार का महत्व भी समझाया जाता है। लोहड़ी के पर्व पर सेवाभारती के जिला सचिव श्री ओमप्रकाष आर्य का बच्चों को मार्ग दर्षन प्राप्त हुआ। इस पर्व में डॉ. यषदेवत्यागी(जिला अध्यक्ष सेवा भारती) भी उपस्थित रहे।

2017 में गुरुग्राम में आयोजित हिंदू आध्यात्मिक सेवा मेले में ज्ञानदीप सेवाधाम प्रकल्प के बच्चों ने भाग लिया और सेवाधाम प्रकल्प के कार्यों को लोगों तक पहुंचाया। इस आयोजन में देषभर से आई संस्थाओं ने भाग लिया। इस आध्यात्मिक मेला का मुख्य उदेष्य हिंदू संस्कृति का प्रचार-प्रसार करना रहा। हिंदू आध्यात्मिक मूल्य और पारंपरिक हिंदू जीवन षैली जिन स्तम्भों पर आधारित हैं, वे भारत सहित समस्त विष्व की समस्याओं का समाधान करते हैं। पर्यावरण असंतुलन, प्रदूशण, मानवमूल्यों में ह्रास आदि।